यूपी मे अब नही मिलेगा मुफ्त राशन, कार्ड धारकों को चुकानी होगी खाद्यान्न की कीमत

अगर आप भी सरकार की मुफ्त राशन योजना का लाभ उठा रहे हैं तो यह खबर आपके लिए जरूरी है। नए अपडेट के तहत अब राशन कार्ड धारकों को अनाज का खर्चा देना होगा। यूपी सरकार की ओर से जारी ताजा निर्देश के मुताबिक सितंबर से राशन कार्ड धारकों को मुफ्त राशन का वितरण बंद हो जाएगा. लेकिन प्रधानमंत्री गरीब अन्न कल्याण योजना के तहत सितंबर तक मुफ्त चावल मिलता रहेगा।

प्रति यूनिट 5 किलो गेहूं-चावल का मुफ्त वितरण

वर्ष 2020 में कोरोना की पहली लहर के दौरान केंद्र सरकार द्वारा नियमित राशन के अलावा 5 किलो गेहूं-चावल प्रति यूनिट राशन कार्ड धारकों को प्रधानमंत्री गरीब अन्न कल्याण योजना (पीएमजीकेवाई) के तहत मुफ्त राशन वितरण शुरू किया गया था। इसके बाद उत्तर प्रदेश की योगी सरकार द्वारा नियमित रूप से बांटे जाने वाले राशन को भी मुफ्त कर दिया गया.

दो माह देरी से चल रहा राशन वितरण

यूपी की योगी सरकार की ओर से जून 2022 तक मुफ्त राशन बांटने के निर्देश थे. इसके मुताबिक जुलाई से राशन कार्ड धारकों को नियमित राशन वितरण के एवज में भुगतान करना होगा. इसके तहत गेहूं 2 रुपये प्रति किलो और चावल के लिए 3 रुपये प्रति किलो की दर से भुगतान करना होगा। लेकिन इस समय राशन वितरण का कार्यक्रम दो महीने की देरी से चल रहा है। ऐसे में जून से अगस्त तक मुफ्त राशन मिल रहा है.

केंद्र से सितंबर तक मिलेगा मुफ्त राशन

ऐसे में राशन कार्ड धारकों को सितंबर से राशन के एवज में पैसे देने होंगे। सूत्रों ने बताया कि आपूर्ति विभाग से खाद्यान्न उठाने के लिए कोटेदारों के पास से पैसा भी जमा करा दिया गया है. वर्तमान में प्रधानमंत्री गरीब अन्न कल्याण योजना के तहत प्रति यूनिट 5 किलो चावल का वितरण जारी रहेगा। हाल ही में केंद्र सरकार ने सितंबर तक मुफ्त राशन बांटने के लिए इस योजना को तीन महीने आगे बढ़ाने की बात कही थी। इसके मुताबिक अक्टूबर से राशन कार्ड धारकों को इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा।